हाइकू

पीट ढिंढोरा कहत नकलची खरा माल बा पाकिट मारे रंगल सियरवा शेर खाल बा रंगही पैसा दउरे सरपट का कमाल बा रावन जिन्दा रामनामी ओढ़ के हाथ...

लोकप्रिय रचना

सोशल चैनल से जुडी

0FansLike
0SubscribersSubscribe

भोजपुरी कविता