खुशबूदार भोजपुरी

0
628

हमार भोजपुरी खुशबूदार भोजपुरी
~~~~~~~~~~~~~~~~

पिरितिया के गीतिया गाइ – गाइ के
खूबी मचले कोइलिया।

प्यास मिटावे ऋतुराज धउरे सगरी
जाम छलकावे बाँटे इतर के गगरी।
सुसताये बाग- बगइचा में जाइ के
खूबी मचले कोइलिया।

सरसों तीसी बूँट फुलाइल खेसरिया,
महुआ कोचाइल आम धइलस मोजरिया।
रहर झुमे पायल चूड़ी खनकाइ के
खूबी मचले कोइलिया।

साल भ प अइले दूर देस से सँवरिया,
कूदे फाने छाव धरे पूर्वी बयरिया।
नव कोंपलन के सेजिया डँसाइ के
खूबी मचले कोइलिया।

देखि बधरिया सभे झुमे उल्लास में,
भंग घोराला रंग उड़े आकास में।
थाप ढोल झाल मजिरा प लगवाइ के
खूबी मचले कोइलिया।

विमल कुमार
जमुआँव भोजपुर बिहार